Follow us

24/07/2024 5:56 am

Search
Close this search box.
Home » News in Hindi » <a href="https://dawnpunjab.com/bhavan-art-and-culture-fest-concludes-with-science-fiction-from-the-30th-century/" title="साइंस फिक्शन तीसवीं शताब्दी से हुआ भवन आर्ट एंड कल्चर फेस्ट का समापन“>साइंस फिक्शन तीसवीं शताब्दी से हुआ भवन आर्ट एंड कल्चर फेस्ट का समापन

साइंस फिक्शन तीसवीं शताब्दी से हुआ भवन आर्ट एंड कल्चर फेस्ट का समापन

चंडीगढ़:

उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार विजेता डॉ चन्द्रशेखर प्रसाद निर्देशित तीसवीं शताब्दी – नाटक के मंचन से हुआ दूसरे आर्ट एंड कल्चर फेस्ट 2023 का समापन

एटम बम के दुष्प्रभाव मानव के मस्तिष्क व स्वभाव पर आने वाली शताब्दियों में कैसे प्रभावित हो रही हैं को लेकर तीसवीं शताब्दी नाटक का मंचन हुआ


फेलोशिप प्राप्तकर्ता, चंद्रशेखर ने इंस्टीट्यूट फॉर डेवलपमेंट एंड कम्युनिकेशन, चंडीगढ़ में एक शोध सहायक के रूप में व सीईवी ड्रामा रिपर्टरी कंपनी, चंडीगढ़ के रिपर्टरी प्रमुख के रूप में व भारतीय रंगमंच विभाग, पंजाब विश्वविद्यालय से जुड़े रहे व चंद्रशेखर उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार से सम्मानित हैं।


आखिरी दिन सम्मानित अतिथि इंफोसिस लिमिटेड के विकास केंद्र प्रमुख और अभ्यास प्रबंधक डॉ. समीर गोयल व प्रिया टण्डन रहे ।
पहाड़ी लोक संगीत के अलौकिक अनुभव द्वारा रिशमप्रीत और अमित द्वारा हाईलैंड दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने के पश्चात तीसवीं शताब्दी का मंचन हुआ ।


द मैजिक स्पेल: 26 होनहार कलाकारों की एक कला कार्यशाला स्थानीय प्रतिभाओं का प्रदर्शन भी खूब सराहा गया।


गौरतलब है कि सुप्रसिद्ध कलाकार और क्यूरेटर नीनू विज द्वारा आयोजित एक कला प्रदर्शनी और कार्यशाला पूरे सप्ताह प्रदर्शित रही।
मुख्य अतिथि समीर गोयल ने भारतीय विद्या भवन इंफोसिस फाउंडेशन व भवन विद्यालय द्वारा लगातार दूसरे वर्ष के प्रयास को चंडीगढ़ के इतिहास में कला व संस्कृति के क्षेत्र में एक अभूतपूर्व कदम बताया , और इसे हर वर्ष जारी रखने की ख्वाहिश की।

dawn punjab
Author: dawn punjab

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS