Follow us

19/04/2024 2:15 pm

Search
Close this search box.
Home » News in Hindi » मनोरंजन » 53वा भास्कर राव नृत्य एवं संगीत सम्मेलन: शास्त्रीय गायन और खूबसूरत ओडिसी नृत्य की मची धूम

53वा भास्कर राव नृत्य एवं संगीत सम्मेलन: शास्त्रीय गायन और खूबसूरत ओडिसी नृत्य की मची धूम

चंडीगढ़ :

सधे हुए शास्त्रीय गायन और खूबसूरत ओडिसी नृत्य के रंग लिए प्राचीन कला केंद्र द्वारा आयोजित 53वें भास्कर राव नृत्य एवं संगीत सम्मेलन का दूसरा दिन

टैगोर थियेटर में आयोजित किये जा रहे 53वे भास्कर राव नृत्य एवं संगीत सम्मलेन के दूसरे दिन जाने माने शास्त्रीय गायक अमजद अली खान और उडीसी नृत्य की प्रख्यात गुरु किरण सेगल के समूह द्वारा प्रस्तुत नृत्य ने धूम मचा दी।

आज के कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में श्री निर्मल आउसपपचन , आईएएस , एडिशनल डिप्टी कमिश्नर , मानसा, पंजाब सरकार ने शिरकत की। केन्द्र की रजिस्ट्रार डॉ.शोभा कौसर,सचिव सजल कौसर ने माननीय मुख्य अतिथि को पुष्प एवं उतरिया से सम्मानित किया

आज के कार्यक्रम में दिल्ली के .किराना घराना से शास्त्रीय गायक अमजद अली खान ने अपनी गायकी से दर्शकों का मन जीत लिया। ये बात जानने योग्य है कि अभी कुछ दिन पहले ही श्री अमजद जी के पिता जी भगवान के चरणों में जा विराजे हैं और फिर भी एक सच्चा कलाकार हर हाल में मंच प्रदर्शन करता है उसी को सार्थक करते हुए अमजद अली खान ने अपनी प्रस्तुति पेश की।

अमजद अली खान

अमजद अली खान ने राग पूरिया में आलाप के पश्चात विलंबित एक ताल में भक्तिमयी रचना तू ही मालिक मेरो पेश करके कार्यक्रम की खूबसूरत शुरुआत की। इसके उपरांत तीन ताल मध्य लय में निबद्ध रचना पेश की। द्रुत तीन ताल की रचना चलोरी मैं ओलिया बेके दरबार प्रस्तुत की। 

इन्होने ने कार्यक्रम का समापन एक खूबसूरत बंदिश जोकि राग बिहग से सजी थी , आली रे अलबेली से किया। इनके साथ तबले पर श्री मेहमूद खान एवं हारमोनियम पर श्री विवेक जैन ने बखूबी संगत की।

कार्यक्रम के दूसरे भाग में गुरु किरण सेगल के समूह ने ओडिसी नृत्य की खूबसूरत प्रस्तुति पेश की। इन्होने नृत्य की शुरुआत मंगलाचरण सी की जिस में माँ सरस्वती की वंदना की गयी इसके उपरांत नृत्य पक्ष पर आधारित पल्लवी पेश की गयी , जोकि राग हंसध्वनि में निबद्ध थी और जिस में नृत्य की खूबसूरत भाव भंगिमाएं पेश की गयी और सुर ताल और लय के सम्मिश्रण के साथ इन भंगिमाओं का सुन्दर प्रदर्शन देख कर दर्शक मोहित हो गए ।

इस प्रस्तुति की रचनाकार गुरु किरण सेगल हैं। इसके उपरांत पारम्परिक ओडिसी नृत्य पेश किया गया और अभिनय पक्ष पर आधारित रचना ओडिसी तांडव पेश की गयी। जागो महेश्वरा बोलों से सजी इस रचना को दर्शकों की खूब तालियां मिली। इस नृत्य प्रस्तुति के भाव पक्ष और खूबसूरत तकनीकी पक्ष देख कर दर्शक मंत्र मुग्ध हो गए।

इनके साथ प्रफुल्ला मंगराज ने मर्दल पर , प्रशांत बेहरा ने गायन पर , धीरज पांडेय ने बांसुरी पर , जनाब राईस अहमद सितार पर और पद्मश्री गुरु किरण सेगल ने मंजीरा पर खूबसूरत संगत की। इनके नृत्य समूह में मध्यमा सेगल , संगिनी कुमार , आकांक्षा रॉय , मैत्री पल सनिष्का रॉय चौधरी , अदिति गुप्ता एवं जान्हवी कॉलोनिनी ने भाग लिया।

इस अवसर पर केन्द्र की रजिस्ट्रार डॉ.शोभा कौसर,सचिव सजल कौसर ने कार्यक्रम के अंत में कलाकारों को मोमेंटो एवं उत्तरीया से सम्मानित किया

dawn punjab
Author: dawn punjab

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS