Follow us

23/05/2024 11:59 am

Search
Close this search box.
Home » News in Hindi » पंजाब » चंडीगढ़ मेयर चुनाव: नए सिरे से चुनाव कराने की मांग वाली याचिका तत्काल सूचीबद्ध की गई

चंडीगढ़ मेयर चुनाव: नए सिरे से चुनाव कराने की मांग वाली याचिका तत्काल सूचीबद्ध की गई

मतपत्रों से छेड़छाड़ मामला पहुंचा हाईकोर्ट,कल हाईकोर्ट मे सुनवाई

राघव चड्ढा ने भाजपा पर लगाया देशद्रोह का आरोप, चड्ढा ने चुनाव को दोबारा से कराने का  रखा प्रस्ताव 

भाजपा की गलत ढंग से हुई जीत पर लोकतंत्र की हार- बंसल

चंडीगढ: मेयर चुनाव आज मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच हुए। परिणाम के बाद भाजपा की जीत के बाद INDIA गठबंधन और भाजपा फिर से आमने-सामने आ गए हैं। चंडीगढ़ मेयर चुनाव में मतपत्रों से छेड़छाड़ कर भाजपा के प्रत्याशी को जिताने का आरोप लगाते हुए पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में आज याचिका दाखिल की गई है। याचिका में कहा गया है कि आप-कांग्रेस गठबंधन के पास बहुमत होते हुए भी मतों की गिनती के दौरान पीठासीन अधिकारी अनिल मसीह पर वोटों की गिनती के दौरान मतपत्रों से छेड़छाड़ की।


याचिका में मेयर चुनाव की प्रक्रिया को रद्द करने, चुनाव से जुड़ा पूरा रिकॉर्ड सील करने, मेयर के पदभार संभालने पर रोक लगाने, इस पूरी चुनावी प्रक्रिया में हुई धांधली की जांच करवाने और नए सिरे से हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज की निगरानी में चुनाव करवाने का निर्देश जारी करने की अपील की गई है।

हाईकोर्ट ने याचिका पर तुरंत सुनवाई करने से इन्कार कर बुधवार सुबह सुनवाई करना तय किया है। याचिका में बताया गया कि हाईकोर्ट में चंडीगढ़ के डीजीपी ने पारदर्शी चुनाव करवाने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दिखाई थी बावजूद इसके चुनाव निष्पक्ष नहीं हुए। बीजेपी के प्रत्याशी को जिताने के लिए आप-कांग्रेस गठबंधन के वोटों के साथ छेड़छाड़ हुई। ऐसे में हाईकोर्ट से अपील की गई कि इस धांधली भरी चुनावी प्रक्रिया को रद्द करते हुए नए सिरे से चुनाव करवाने का निर्देश दिया जाए।

याचिका में बताया गया कि 30 जनवरी को चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के चुनाव तय हुए थे। तय कार्यक्रम के तहत मंगलवार को चुनाव भी हुआ, लेकिन मेयर चुनाव में कांग्रेस-आप के 20 में से 8 वोट अवैध करार दे दिए गए, जिसके चलते भाजपा का उम्मीदवार मेयर पर चुन लिया गया।
याचिका में आरोप लगाया कि वोटों की गिनती के दौरान पीठासीन अधिकारी अनिल मसीह ने मतपत्रों से छेड़छाड़ की थी जिसके चलते उनके वोट अवैध करार दिए गए। कुलदीप कुमार की तरफ से सीनियर एडवोकेट गुरमिंदर सिंह ने दोपहर सवा दो बजे हाईकोर्ट से आग्रह किया कि उनकी इस याचिका पर तत्काल सुनवाई की जाए और इस चुनाव का रिकॉर्ड सील किया जाए क्योंकि यह सीधे तौर पर लोकतंत्र की हत्या है।चुनाव हाईकोर्ट के रिटायर जज की निगरानी में करवाया जाए ताकि इसकी निष्पक्षता बरकरार रहे। चुनावी प्रक्रिया के दौरान जो धांधली हुई है इसकी जांच के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की एसआईटी गठित की जाए और चुनाव से जुड़ा पूरा रिकार्ड सील किया जाए।

चड्ढा ने चुनाव को दोबारा से कराने का  रखा प्रस्ताव 

राघव चढ्ढा

आप नेता राघव चड्ढा, कांग्रेस नेता पवन बंसल सहित प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। राघव चड्ढा ने बीजेपी पर देशद्रोह का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि फर्जीवाड़े से हुई जीत कोई मायने नहीं रखती है। चड्ढा ने चुनाव को दोबारा से कराने का प्रस्ताव रखा।

भाजपा की गलत ढंग से हुई जीत पर लोकतंत्र की हार-वन बंसल

पवन बंसल

कांग्रेस नेता पवन बंसल ने कहा कि भाजपा के मनोज को कुल 16 वोट मिले और आप के कुलदीप को 12 वोट मिलने के बाद उनके बाकी वोट रद कर दिए गए। यह सरासर फर्जीवाड़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा की गलत ढंग से हुई जीत पर लोकतंत्र की हार है। बंसल ने आगे कहा कि यह जीत पहले से ही तय की गई थी।

dawn punjab
Author: dawn punjab

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS