Follow us

19/06/2024 2:52 am

Search
Close this search box.
Home » News in Hindi » भारत » कितनी भी कोशिश कर लो जीत तो सत्य की होती है: कुमारी सैलजा

कितनी भी कोशिश कर लो जीत तो सत्य की होती है: कुमारी सैलजा

न्याय के सर्वोच्च मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश से भ्रष्ट भाजपा का सपना टूटा

सुप्रीम कोर्ट ने किसान की मौत की जांच पर रोक लगाने से किया इंकार

चंडीगढ़: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव, पूर्व केंद्रीय मंत्री, हरियाणा कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष एवं उत्तराखंड की प्रभारी कुमारी सैलजा ने कहा कि सत्य की जीत ने एक बार फिर अपनी अटल उपस्थिति दर्ज की है। न्याय के सर्वोच्च मंदिर सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्णायक आदेश के माध्यम से यह स्पष्ट कर दिया है कि चुनाव तक कांग्रेस के बैंक खातों पर लगी रोक हटा दी जाए। इससे साफ़ पता चलता है कि जितनी भी कोशिश कर लो आखिर में सच ही जीतता है। इस फैसले से भ्रष्ट भाजपा का ये सपना भी टूट गया कि देश की सबसे पुरानी पार्टी को चुनाव लडने से रोक दिया जाए लेकिन न्याय की ताकत ने दिखाया कि सच्चाई का रास्ता हमेशा खुला रहता है।

मीडिया को जारी एक बयान में कुमारी सैलजा ने कहा है कि विरोधी ताकतें जो लोकतंत्र की आवाज को दबाने की कोशिश में थीं, उन्हें यह समझना होगा कि लोकतंत्र की जड़ें इतनी गहरी हैं कि इन कुत्सित प्रयासों से उनका बाल भी बांका नहीं होने वाला। यह फैसला भाजपा सरकार के लिए एक सबक है कि जनता की ताकत के आगे उनकी राजनीतिक चालबाजियां नहीं चलेंगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का दबाने के लिए भाजपा सरकार कोई भी कदम उठाने से पीछे नहीं हट रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा कांग्रेस की बढ़ती लोकप्रियता से घबराई हुई है। राहुल गांधी की भारत जोड़ो और भारत न्याय यात्रा से देश की जनता सरकार के खिलाफ एकजुट हुई है जनता को पता है कि भाजपा ने देश को भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद, बेरोजगारी, महंगाई के सिवाय कुछ नहीं दिया। तानाशाह सरकार सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर अपने विरोधियों की आवाज दबाना चाहती है। सरकार का इसका खामियाजा चुनाव में भुगतना होगा। उन्होंने कहा कि देश की जनता को न्यायपालिका पर पूरा भरोसा विश्वास है। न्याय के सर्वोच्च मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश से भ्रष्ट भाजपा का सपना टूट चुका है।

उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में पंजाब की सीमा पर प्रदर्शनकारी किसान शुभकरण सिंह की मौत की न्यायिक जांच से हरियाणा सरकार दूर भागना चाहती थी, यहीं वजह रही कि हरियाणा सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की शरण ली थी पर कोर्ट ने सुनवाई करते हुए रोक लगाने से इंकार कर दिया। कोर्ट ने कहा है कि सेवानिवृत जज की अध्यक्षता वाले पैनल द्वारा मामले की निगरानी से निष्पक्षता और पारदर्शिता आएगी। कुमारी सैलजा ने कहा कि अगर वह सही है तो मामले की न्यायिक जांच से दूर क्यों भाग रही है। उन्होंने कहा कि इस देश की न्यायपालिका के कारण ही लोगों के अधिकार सुरक्षित है, इस तानाशाह सरकार ने जनता के शोषण और उत्पीडन में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है।

dawn punjab
Author: dawn punjab

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS