Follow us

23/05/2024 12:09 pm

Search
Close this search box.
Home » News in Hindi » भारत » किसानों को बदनाम करने का षड्यंत्र शुरू: कुमारी सैलजा

किसानों को बदनाम करने का षड्यंत्र शुरू: कुमारी सैलजा

200 किलोमीटर दूर होने के बावजूद दिल्ली, एनसीआर में लोगों के लिए खड़ी की दिक्कतें
लोकतंत्र को खत्म करने व विरोधियों को कुचलने की नीयत से सील किए कांग्रेस के खाते

चंडीगढ़:  अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव, पूर्व केंद्रीय मंत्री, कांग्रेस कार्यसमिति की सदस्य, हरियाणा कांग्रेस की पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और उत्तराखंड की प्रभारी कुमारी सैलजा ने कहा कि  भाजपा की केंद्र सरकार ने एक बार फिर से किसानों को बदनाम करने का षड्यंत्र रचना शुरू कर दिया है।

किसान दिल्ली के आसपास भी नहीं हैं, लेकिन दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए परेशानियों के अंबार खड़े किए जा रहे हैं। कांग्रेस बैंक खाते सीज करने पर उन्होंने कहा कि विरोधियों को कुचलने व लोकतंत्र को खत्म करने की नीयत से मोदी के इशारे पर यह कदम उठाया गया है।


मीडिया को जारी बयान में कुमारी सैलजा ने कहा कि पंजाब का किसान अभी तक पंजाब-हरियाणा के बॉर्डर पर है। ये बॉर्डर दिल्ली की सीमाओं से करीब 200 किलोमीटर दूर हैं। इसके बावजूद भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार ने हरियाणा के विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्गों को खोद दिया है। इन पर कीलें गाढ़ हैं, बैरिकेटिंग कर दी है। आम जनता के लिए इनके प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। इससे आम जनता की परेशानियां बढ़ गई हैं और मजबूरी में उन्हें टूटी पड़ी ग्रामीण सडक़ मार्गों व संपर्क मार्गों से यात्रा करनी पड़ रही है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह सब हरियाणा व पंजाब के लोगों के दिलों में खाई पैदा करने के लिए किया जा रहा है। इस सोच के साथ प्रदेश सरकार पुलिस से ऐसा करवा रही है कि प्रदेश के लोग जितने ज्यादा दुखी होंगे, किसानों के आंदोलन से उतने ही दूर होंगे। जबकि ऐसा नहीं है। लोगों की भावनाएं किसानों के साथ जुड़ी हुई हैं।


कुमारी सैलजा ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में हर रोज लगने वाले जाम के लिए दिल्ली पुलिस किसानों के आंदोलन को जिम्मेदार ठहरा रही है। जबकि, सच्चाई तो यह है कि किसान न तो दिल्ली के अंदर पहुंचे हैं और न ही अभी तक दिल्ली के आसपास ही आए हैं। किसानों को लोग बात-बात पर कोसने लगे, इसलिए जानबूझकर उनकी परेशानियों में इजाफा किया जा रहा है। ट्रैक्टर की बजाए ट्रेन, बस से किसानों के दिल्ली पहुंचने की भाजपाइयों की बात पर पलटवार करते हुए

कुमारी सैलजा ने कहा कि यह सब किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए कहा जा रहा है। जब अभी तक दिल्ली में किसान नहीं है और हर रोज कोई न कोई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिया जाता है, तो फिर अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसान पब्लिक ट्रांसपोर्ट में आएंगे तो सरकार खुद ही उनका चक्का जाम कर देगी।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस के बैंक खाते को फ्रीज करने पर कहा कि लोकसभा आम चुनाव की संभावित घोषणा से करीब 10 दिन पहले खाते फ्रीज करना लोकतंत्र को फ्रीज करने जैसा है। पार्टी के खाते में जो भी राशि है वह क्राउडफंडिंग के जरिए जुटाई गई है, जिसे पार्टी की पहुंच से दूर किया जा रहा है। क्योंकि, वे यही चाहते हैं कि देश में सिर्फ एक ही पार्टी, उनकी ही पार्टी रहे।

dawn punjab
Author: dawn punjab

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS