Dawn Punjab

 24 घंटे नहीं, सुबह-शाम ही फुल प्रेशर से पानी दे नगर निगम : एस.एस.टी

चंडीगढ़: नगर निगम सैंकड़ों करोड़ रुपये कर्ज लेकर 24 घंटे पानी देने की योजना पर काम कर रहा है। अब इसके खिलाफ शहर की एक समाजसेवी संस्था समस्या समाधान टीम (एसएसटी) ने आवाज उठाई है। एसएसटी के सदस्यों ने रविवार को मनीमाजरा के शिवालिक गार्डन के पास से एक पद यात्रा निकाली और लोगों को बताया कि, नगर निगम की ये योजना शहरवासियों के लिए कितनी घातक है। इसके साथ पंफलेट बांटे और लोगों को जागरुक किया।

कर्ज लेकर 24 घंटे पानी नहीं चाहिएघर-घर जाकर लोगों को जागरुक कर रही समस्या समाधान टीम

समस्या समाधान टीम ने इस ‘जल जागृती अभियान’ का नारा दिया है। शिवालिक गार्डन के पास संस्था के सदस्यों ने बैनर और पोस्टरों के साथ पद-यात्रा निकाली और लोगों में पर्चे बांट कर इस योजना को स्थगित करवाने में मदद की अपील की। संस्था के प्रधान एके सूद ने कहा कि राष्ट्रीय मानदंड के अनुसार हर एक व्यक्ति को प्रतिदिन 135 लीटर पानी चाहिए होता है और चंडीगढ़ में यह प्रति व्यक्ति 254 लीटर उपलब्ध है, इसलिए चंडीगढ़ को 24 घंटे पानी की भी कोई जरूरत नहीं है।

समस्या समाधान टीम ने मनीमाजरा के शिवालिक गार्डन से निकाली पदयात्रा

पंफलेट बांट लोगों को किया जागरुक

उन्होंने बताया कि यह अभियान समाजसेवी व पर्यावरण प्रेमी प्रवीन की मदद से शुरू किया गया है। उप-प्रधान ओंकार सैनी ने कहा कि पानी बनाया नही जा सकता, इसे सिर्फ बचाया जा सकता है। नीति आयोग, अंतरराष्ट्रीय संस्था वाटर ऐड और विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत में 2040 तक पानी खत्म हो जायेगा, इसलिए हमें पानी संरक्षण पर काम करना चाहिए। प्रशासन इस योजना के लिए लगभग 591 करोड़ खर्च करेगा, ये करोड़ों की बर्बादी है। उन्होंने बताया कि मनीमाजरा के लोगों ने इस अभियान में साथ देने का भरोसा दिया है। आने वाले दिनों में इस अभियान को शहर के अन्य हिस्सों में भी लेकर जाया जाएगा और इसे एक आंदोलन के रूप में लब्दील किया जाएगा। संस्था की मांग है कि शहरवासियों को तय समय पर फुल प्रेशर से पानी दिया जाए।

एसएसटी ने शुरु किया जल जागृति अभियानरखी मांग- 24 घंटे नहीं

सुबह-शाम ही फुल प्रेशर से पानी दे नगर निगम

संस्था के मुकेश मिश्रा और दिनेश दिलेरे ने कहा कि इस योजना के लिए चंडीगढ़ प्रशासन 410 करोड़ एएफडी (एजेंसी फ्रांस डेवलपमेंट) से लोन के रूप में ले रहा है, जिसे अगले 15 साल में ब्याज के साथ उतारना है। नगर निगम की आर्थिक हालत पहले ही खस्ताहाल है और इस कर्ज को उतारने के लिए शहरवासियों का पानी का बिल बढ़ा कर या टैक्स आदि लगा कर वसूल किये जायेंगे। यह योजना शहरवासियों पर महंगाई का बोझ बढ़ाने वाली है। इस मौके पर पर्यावरण प्रेमी प्रवीन, एडवोकेट मनप्रीत कौर, मणि सेठ, साहिल चवर, अनिल कुमार, नवीन कम्बोज, भुवेश, कंवर पहलवान, संजीव कुमार, बबलू वर्मा, गुरदेव सिंह, अजय, साहिल, बिजेंदर, बंटी आदि मौजूद रहे I

DP Bureau
Author: DP Bureau

Related Posts

TOP NEWS

[the_ad id="209"]
[the_ad id="212"]

BLOGS/OPINION

DO YOU KNOW ?

FROM SOCIAL MEDIA